नेविगेशन में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस

नेविगेशन AI की तब जरूरत होती है जब ड्राइवर उन स्थानों पर जा रहे हैं जिन्हें वे नहीं जानते हैं तो उन्हें उनके रास्तें के बारे में अधिक जानकारी और रास्ता खोजने में मदद करता है

AI जीपीएस सिस्टम उन्हें बता सकता है कि कब उन्हें रोड लेन बदलने की जरूरत है या कब रोड लेन एक हो रही हैं

ये सिस्टम पार्किंग स्थल कहां मिल सकता है उसके बारे में और बाइक सवारों को व्यस्त शहरों में सही लेन ढूंढने में मदद मिल सकती है

नए ड्राइवर के लिए नेविगेशन की ज्यादा जरूरत है ड्राइवरों को सड़कों की स्थिति के बारे में अपडेट देने से आपात स्थिति के लिए योजना बनाने में भी मदद मिल सकती है।

जीपीएस तकनीक एक सुपर स्मार्ट मैप की तरह है जो हमें बता सकती है कि हम कहां हैं और जहां हमें जाना है वहां कैसे पहुंचें

सबसे ज्यादा उबर जैसी कंपनियां और डिलीवरी कंपनियां अपने काम को आसान बनाने और काम करने का सबसे अच्छा तरीका ढूंढने के लिए इस तकनीक का उपयोग करती हैं।

AI मॉडल सीमित मानचित्र डेटा वाले स्थानों में जीपीएस नेविगेशन को बेहतर बनाने के लिए उपग्रह छवियों के आधार पर सड़क सुविधाओं को टैग करता है।

एमआईटी और क्यूसीआरआई के शोधकर्ताओं ने एक विशेष उपकरण बनाया जो मानचित्रों में अधिक जानकारी जोड़ने के लिए अंतरिक्ष से ली गई तस्वीरों को देखता है